newsmrl
Trending

बैंक हड़ताल का दूसरा दिन: बैंकों के हड़ताल से अकेले यूपी में 30 हजार करोड़ का लेनदेन ठप रहा।

newsmrl.com bank strike update by akanksha tiwari

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स के 10 लाख कर्मचारी केंद्र सरकार की नीतियों के ख‍िलाफ पिछले महीने से ही प्रदर्शन कर रहे हैं और अब 15 एवं 16 मार्च को दो दिन की हड़ताल का ऐलान किया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में IDBI Bank बैंक के अलावा दो और सरकारी बैंकों के निजीकरण का ऐलान किया था। जिसका बैंक कर्मचारी यूनियनों की ओर से लगातार विरोध किया जा रहा है।अब विरोध हड़ताल का रूप ले रहा है।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने अगले वित्त वर्ष (2021-22) के दौरान विनिवेश के जरिये 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है।बैंकों के निजीकरण के अलावा सरकार ने एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी को भी अगले वित्त वर्ष में निजीकरण करने का फैसला लिया है।

कुछ बैंकों ने पहले ही बता दिया है कि उनके यहां हड़ताल की वजह से कामकाज बाधित होंगे, यानी ग्राहकों को परेशानी होने वाली है।बैंक यूनियनों का कहना है कि इस हड़ताल में देशभर के 10 लाख से अधिक कर्मचारी शामिल होंगे।भारतीय स्टेट बैंक सहित कई बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस हड़ताल के बारे में सचेत भी कर दिया है।हालांकि बैंक मैनेजमेंट का कहना है क‍ि वे इस बात की कोशिश कर रहे हैं कि कामकाज को चलाया जा सके।

दो बैंकों के निजीकरण के विरोध में कर्मचारियों की हड़ताल के पहले दिन सोमवार को देशभर में मिलाजुला असर दिखा। हड़ताल में 10 लाख से ज्यादा कर्मचारी-अधिकारी शामिल हुए।

भारतीय बैंक कर्मचारी संगठन के महासचिव सीएच वेंकटचालम ने बताया कि हड़ताल से देशभर में करीब 2 करोड़ चेक का क्लीयरेंस नहीं हो सका। इसमें कुल 16,500 करोड़ की राशि फंसी है। इसके अलावा नकद निकासी, जमा व कारोबारी लेनदेन पर भी असर पड़ा है। बैंक कर्मचारी मंगलवार को भी हड़ताल पर रहेंगे।

हड़ताल से अकेले यूपी में 30 हजार करोड़ का लेनदेन ठप रहा। नेशनल कन्फेडरेशन ऑफ बैंक इम्पलॉइज के प्रदेश महामंत्री केके सिंह ने बताया कि 45 ग्रामीण बैंकों के एक लाख बैंककर्मी भी हड़ताल में शामिल हैं।

सरकार की नीतियां अर्थव्यवस्था पर बुरा असर डाल रही हैं। चुनावों में भी इसका असर दिखेगा। शीर्ष अधिकारियों को छोड़कर सभी लोग हड़ताल में शामिल हुए।

Back to top button
%d bloggers like this:

Adblock Detected

You are activate Ad-blocker, please Turn Off Your Ad-blocker