newsmrl
Trending

पड़ोसी ही निकला मासूम का हत्यारा

newsmrl.com crime update by pooja_goswami

सनसिटी जोधपुर शहर में 3 दिन पहले लापता हुये 7 साल के मासूम की हत्या के मामला का पुलिस ने चंद घंटों में ही खुलासा कर दिया है।

मासूम की हत्या उसके पड़ोसी ने की थी।आरोपी पड़ोसी युवक ने इंटरनेशनल वर्चुअल कॉलिंग के जरिये मासूम के परिजनों से 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। लेकिन हत्या का वास्तविक कारण अभी तक सामने नहीं आया है। पुलिस हत्या के अन्य कारणों को जानने में जुटी है।
जोधपुर शहर के खंडा फलसा थाना इलाके में रहने वाला 7 साल का मासूम हिमांशु प्रजापत सोमवार शाम को अचानक लापता हो गया था। इसके बाद परिजनों ने खंडा फलसा थाने में हिमांशु प्रजापत के किडनैपिंग का मामला दर्ज कराया था।पुलिस मामले की जांच कर ही रही थी कि बुधवार को सुबह करीब 11 बजे जोधपुर रेंज आईजी के बंगले के पास आटे के एक कट्टे में हिमांशु प्रजापत का शव पड़ा मिला।

हिमांशु प्रजापत का शव के बरामद होने के बाद डीसीपी धर्मेंद्र सिंह यादव ने 8 थानों की पुलिस और 3 एसीपी तथा आईटी सेल के तमाम एक्सपर्ट को हिमांशु प्रजापत की हत्या करने वाले की तलाश में लगा दिया। चंद घंटों की मेहनत में ही आठ थानों की पुलिस और तीन एसीपी के साथ काम कर रही साइबर एक्सपर्ट टीम को मासूम के पड़ोस में रहने वाले एक युवक पर हत्या करने का शक हुआ।उसके बाद पुलिस ने उससे पूछताछ की।उसमें हत्या की पुष्टि हो गई। पुलिस ने हिमांशु के पड़ोसी युवक को किशन सोनी गिरफ्तार कर लिया।

बताया जा रहा कि हिमांशु का पड़ोसी युवक और उसका परिवार घर पर ही रोटी बनाकर अपना परिवार चलाते थे। हिमांशु की हत्या के पीछे युवक की गरीबी को बताया जा रहा।


युवक ने सोचा था कि हिमांशु का अपहरण कर घर से फिरौती की मांग करेगा किंतु प्रोफेशनल अपराधी ना होने के कारण उसने पहले ही हिमांशु की हत्या कर दी।

हिमांशु की हत्या करने के पश्चात वह युवक पुलिस के खिलाफ हो रहे आंदोलन में भी पहुंचा था और जोर शोर से नारेबाजी कर रहा था। सिविल ड्रेस में वहां मौजूद पुलिस वालों ने युवक के आक्रामक रुख पर संदेह जताया, और जांच में जुट गई।
पकड़ में आने के पश्चात युवक ने अपने पैर से मोबाइल फोन को तोड़ दिया, किन्तु पुलिस पहले ही उसके फोन को ट्रेस कर चुकी थी।

Back to top button
%d bloggers like this:

Adblock Detected

You are activate Ad-blocker, please Turn Off Your Ad-blocker