newsmrlकरन रॉय UP/BIHAR/UK/JHकोलकाताक्राइमबंगाल
Trending

बंगाल में करोड़पति परिवार के लड़के ने अपने पूरे परिवार को मार कर ममी बना दिया, सीखना चाहता था ममी कैसे बनती है

newsmrl.com In Bengal, a millionaire family boy killed his entire family and made a mummy, wanted to learn how to become a mummy update by karan Roy

पश्चिम बंगाल के मालदा जिला के कालियाचक में एक लड़के ने कथित तौर पर ममी बनाने का प्रयोग करने के लिए एक बड़ा कांड कर डाला.

उसने अपनी ही मां-बहन, पिता और दादी को बड़ी ही बेरहमी से मार डाला. अब उसने कहा है कि वह प्राचीन काल में लाश को संरक्षित करने के लिए ममी बनाने का प्रयोग करना चाहता था. मृतकों की पहचान जव्वाद अली (53), इरा बीबी (36), रीमा खातून (18) और अलेकनूर बेवा (70) के रूप में हुई है.

जांचकर्ता इस बात से परेशान और हैरान हैं कि आसिफ मोहम्मद, जिसकी उम्र इस वक्त महज 18 साल है, ने इतनी घातक योजना कैसे बना ली. शनिवार सुबह आरोपी आसिफ मोहम्मद की आपराधिक गतिविधियों की जानकारी मिलने के बाद जिला पुलिस के अधिकारी दंग रह गये.

कालियाचक थाना क्षेत्र के ओल्ड 16 माइल के गुरुटोला गांव के आसिफ मोहम्मद ने परिवार के सभी चार लोगों के शरीर पर तरह-तरह के रसायन के लेप लगाये और सफेद कपड़े में लपेटकर घर के अंदर एक ताबूत में दफन कर दिया. घटना के चार महीने बाद आसिफ के बड़े भाई राहुल शेख ने उसकी पोल खोल दी. घटना की पूरी जानकारी मिलने के बाद से पुलिस अधिकारी भी सन्न हैं.

एक ही परिवार के चार सदस्यों की इस तरीके से हुई हत्या की खबर सामने आने के बाद उस गांव के लोग बी हैरान हैं. पुलिस को पता चला है कि आसिफ मोहम्मद ने फरवरी में ही अपने परिवार के चार सदस्यों की हत्या कर उन्हें एक ताबूत में दफना दिया था. इसके बाद वह समाज से पूरी तरह से कट गया था. घर से बाहर भी नहीं निकलता था.

घटना पर पर्दा डालने के लिए रची ये कहानी
स्थानीय लोगों ने कहा है कि घटना के बाद से आसिफ मोहम्मद ने कभी घर नहीं छोड़ा. उसने अपने कुछ रिश्तेदारों को फोन पर बताया कि उसके माता-पिता, बहन, दादी ने महाराष्ट्र में एक फ्लैट खरीदा है और वहीं चले गये हैं. पिता ने वहां व्यवसाय शुरू किया है. तीन-चार साल बाद मालदा आयेंगे. कुछ लोगों ने उसकी बातों पर यकीन कर लिया.

चार महीने बाद भाई ने खोल दिये सारे राज
आसिफ मोहम्मद ने अपने माता, पिता, बहन और दादी के कत्ल को राज बनाये रखने की पूरी कोशिश की, लेकिन शुक्रवार (18 जून) को उसके भाई ने इस राज से पर्दा उठा दिया. आरोपी के भाई राहुल शेख को पहले से पता था कि आसिफ ने उसके माता-पिता, नाबालिग बहन और दादी की हत्या कर दी है. पुलिस यह भी पता लगा रही है कि राहुल शेख इतने दिनों तक चुप क्यों रहा.

प्रताड़ना से परेशान होकर कोलकाता भाग गया था राहुल
राहुल शेख अपने भाई आसिफ मोहम्मद की प्रताड़ना से तंग काफी समय पहले कोलकाता भाग गया था. वहां के किसी कॉलेज में उसने दाखिला ले लिया था. उसने आर्ट्स की पढ़ाई की है. राहुल शेख ने पुलिस को बताया कि आसिफ पिता, मां, बहन और दादी के साथ मिलकर उसे मारना चाहता था. जान बचाने के लिए वह कोलकाता भाग गया. डर की वजह से किसी से संपर्क करने की हिम्मत नहीं हुई.

हत्या का तरीका सुनकर पुलिस भी हैरान
आसिफ मोहम्मद ने अपने परिवार के सदस्यों की जिस तरीके से हत्या की, उसके बारे में जानकर कालियाचक की पुलिस भी हैरान है. पुलिस के मुताबिक, आसिफ ने अपने माता-पिता, नाबालिग बहन और दादी के हाथ-पैर बांधकर ताबूत में डालकर घर के गैरेज में दफनाने की व्यवस्था की थी. प्रत्येक व्यक्ति के शरीर पर विभिन्न प्रकार के रसायनों के लेप लगाये गये थे. उन्हें एक सफेद कपड़े में लपेटा गया था. ठीक उसी तरह से, जिस तरह से फिल्मों में ममी दिखायी जाती है.

रिसर्च की कहानी बता रहा है आसिफ
आसिफ बार-बार पुलिस से यही कह रहा है कि वह घर पर ममी जैसे कई विषयों पर रिसर्च कर रहा था. पुलिस के सूत्र की मानें, तो आरोपी आसिफ ने ऑनलाइन ऑर्डर देकर प्लाईवुड मंगवाये. इंटरनेट की मदद से ताबूत बनाये. उसके बाद अलग-अललग ताबूत में परिवार के एक-एक सदस्य को बंद किया. जिस घर में ताबूत रखा था, उस घर में पानी भर दिया गया. बेहोश होने के बावजूद परिवार के चारों सदस्यों ने ताबूत में ही दम तोड़ दिया.

बिना चोट पहुंचाये सबको मारने की योजना
आसिफ मोहम्मद ने कहा है कि उसने बिना चोट पहुंचाये सभी लोगों को मारने की योजना बनायी थी. शवों को उसी तरह संरक्षित करने की कोशिश की, जैसे ममी बनाते समय उन्हें प्राचीन काल में संरक्षित जाता था. आरोपी के घर से 5 लैपटॉप, 6 सीसीटीवी कैमरे, कई प्रकार के रसायन, चिप्स और अन्य सामान बरामद हुए हैं.

हैकर भी है आसिफ मोहम्मद!
पुलिस ने कहा है कि आसिफ मोहम्मद पर कुछ साल पहले बैंक अकाउंट हैक करने का आरोप भी लग चका है. इस मामले में पुलिस को ऐसा नहीं लगता कि उसकी मानसिक स्थित ठीक नहीं है. आसिफ ने सोच-समझकर यह सब कया है, ऐसा पुलिस मानती है.

स्टार मार्क्स से मैट्रिक पास है आसिफ
आरोपी आसिफ मोहम्मद ने कालियाचक के एक मिशन स्कूल से स्टार मार्क्स (75 फीसदी से ज्यादा अंक) के साथ सेकेंडरी (मैट्रिक) की परीक्षा पास की थी. फिर उसे कालियाचक के एक हाई स्कूल में 11वीं कक्षा में भर्ती कराया गया. बीच में ही उसने पढ़ाई छोड़ दी. वह घर में एकांत में रहना पसंद करता था. गांव वाले यह सोचकर परेशान हैं कि उसने इतना बड़ा कांड कर दिया और ग्रामीणों को भनक तक नहीं लगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: