18+18+ सेक्स टिप्सRihan Ibrahimलाइफस्टाइलवर्ल्डसेहत
Trending

शादी के बाद भी करते हैं मास्टरबेशन, तो यहां जानिए क्या ये सही है आपके लिए?

newsmrl.com Do masturbation even after marriage, so know here is it right for you? update by rihan Ibrahim

हमारे शरीर को गुड फील करने के कई तरह की शारीरिक आवश्यकताएं होती हैं जैसे मानसिक शांति, सेहतमंद शरीर और यौन इच्छा की पूर्ति।

इसमें शरीर की सेक्स संबंधी बातों पर लोग ज्यादा बात नहीं करते। यौन इच्छा लोग कई तरह से पूरी करते हैं। जिनके पास पार्टनर होते हैं, वे अपने पार्टनर के साथ इंटरकोर्स करके इसकी तृप्ति करते हैं, वहीं माना जाता है कि गैर-शादीशुदा लोग हस्तमैथुन (मास्टरबेशन) करके अपनी सेक्सुअल डिज़ायर को शांत करते हैं।

मास्टरबेशन का सहारा
फेमस यूरोलॉजिस्‍ट डॉ. रमन की मानें तो मास्टरबेशन एक नेचुरल प्रक्रिया है और इसका शरीर पर कोई बुरा असर नहीं होता। उन्होंने आज कल के लड़के-लड़कियों में मास्टरबेशन की आदत पर कहा कि बाल्यकाल के बाद युवावस्था में आते ही शरीर में कई हार्मोनल बदलाव आते हैं और अलग-अलग तरह की शारीरिक आवश्यकताएं उत्पन्न होना शुरू हो जाती हैं। पहले कम उम्र में शादी होने की वजह से लोग अपने पार्टनर के साथ शारीरिक जरूरतें पूरी करते थे, लेकिन अब देर में शादी होनी की वजह से लोग अपनी कामेच्छा को पूरी करने के लिए मास्टरबेशन का सहारा लेते हैं।

अगर डॉक्टरों की मानें तो मास्टरबेशन सेक्शुअल लाइफ का एक हिस्सा है, जो हमारे शरीर की एक बेहद बेसिक जरूरत को पूरा करता है। काफी एक्सरसाइज और हेल्दी फूड लेने के बाद भी जब शरीर स्वस्थ नहीं होता, तो लोग सोचते हैं कि हस्तमैथुन ही कमजोरी का एक कारण है। लेकिन ऐसा नहीं है।

मास्टरबेशन के फायदे

  1. यूरोलॉजिस्ट के अनुसार, शरीर में ऑर्गेज्म पाने के दो तरीके होते हैं, जिसमें पहला यह कि अगर आप विवाहित हैं तो आप अपने पार्टनर के साथ फिजिकल होकर इसकी पूर्ति करते हैं। लेकिन अगर आप सिंगल हैं तो आपको मास्टरबेशन का ही सहारा लेना पड़ता है। रात के बजाय सुबह करें Sex, दूर भाग जाएंगी ये 6 समस्याएं
  2. शादी के बाद मास्टरबेशन करना कोई गलत बात नहीं है, बल्कि अगर आप अब भी मास्टरबेशन कर रहे हैं तो यह दिखाता है कि आप में सेक्स की काफी प्रबल इच्छा है और इससे आप अपनी पार्टनर के साथ ज्यादा कनेक्ट हो पाएंगे। अगर आप वीकली एक से दो बार मास्टरबेशन करते हैं तो इससे आपकी मैरिड लाइफ में कोई बुरा असर नहीं पड़ता।
  3. साइंस की नजर से अगर मास्टरबेशन को समझें तो इसको लेकर न ही बुरी बातें कही गई हैं और न ही इसका शरीर में कोई बहुत ज्यादा फायदा बताया गया है। मेडिकल साइंस में कहा गया है कि शरीर अपनी जरूरत के अनुसार रोजाना सीमन (वीर्य) बनाता है और जब इसकी अधिकता होती है तो इसे शरीर निकाल देता है। फिर चाहे वह इंटरकोर्स के दौरान स्खलन में निकले या हस्तमैथुन या फिर स्वप्नदोष के वक्त निकले।
  4. मेडिकल साइंस में मास्टरबेशन से शारीरिक ग्रोथ रुकने के कोई फैक्ट नहीं हैं । केवल मनुष्य की अवधारणा है कि यह एक बुरी आदत है और इससे शरीर कमजोर होता है। जिस तरह ज्यादा बोलने से जुबान कमजोर नहीं होती और नहीं बोलने से मजबूत नहीं होती, ठीक उसी तरह मास्टरबेशन ज्यादा करने से कमजोरी नहीं होती और नहीं करने से ताकत नहीं बढ़ती।
  5. कई लोगों को यह मानना है कि ज्यादा मास्टरबेशन करने से पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी हो जाती है, लेकिन यह सोचना भी पूरी तरह से गलत है। मास्टरबेशन का टेस्टोस्टेरोन के लेवल से कोई लेना-देना नहीं है! लेकिन यह बात जरूर है कि जब आप अपने पार्टनर के साथ फिजिकल होते हैं तो यह हार्मोन तेजी से बढ़ने लगता है।
  6. कई महिलाएं शादी के तुरंत बाद फिजिकल रिलेशन को लेकर ज्यादा कंफर्ट नहीं हो पातीं, ऐसे में वे अकेले में मास्टरबेशन के सहारे अपनी शारीरिक इच्छा को पूरी करती हैं। अगर आप अपने पार्टनर से दूर हैं, तो कॉल के जरिए ही मास्टरबेशन करके एक-दूसरे की इच्छा को पूरा कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: