Kiran Rawatअसमउत्तर प्रदेशउत्तराखंडकेंद्र शासित राज्यकोलकातागोवाछत्तीसगढ़जम्मू कश्मीरदिल्लीनोएडापंजाबप्रमुख शहरबंगालबिहार झारखंडभारतमध्प्रदेशमहाराष्ट्रमुंबईमौसमराजस्थानराज्यरायपुर शहरहिमाचल प्रदेश
Trending

आज इन राज्यों में होगी भारी बारिश, यूपी में चेतावनी, एमपी-बिहार-छत्तीसगढ़ और झारखंड में वज्रपात का अलर्ट, जानें अपने इलाके के मौसम का हाल

newsmrl.com Today there will be heavy rain in these states, warning in UP, thunderstorm alert in MP-Bihar-Chhattisgarh and Jharkhand, know the weather condition of your area update by nujhat ashrafi

यूपी में भारी बारिश की चेतावनी


मौसम विभाग ने शनिवार 19 जून को पूर्वी यूपी के अधिकांश इलाकों में कहीं भारी तो कहीं बहुत भारी बारिश होने की चेतावनी जारी करने का काम किया है. पूरे सूबे में 21 जून तक कहीं हल्की तो कहीं सामान्य बारिश का सिलसिला जारी रहेगा.

यूपी में दक्षिणी-पश्चिमी मॉनसून
दक्षिणी-पश्चिमी मॉनसून करीब पांच दिन के अंतराल के बाद एक फिर उत्तर प्रदेश पर मेहरबान होता नजर आ रहा है. मौसम विभाग ने बताया कि शुक्रवार को मॉनसून ने लखनऊ समेत पूर्वी यूपी के अधिकांश हिस्सों में बारिश दी है. पश्चिमी यूपी में मानसून मेरठ तक पहुंच चुका है. बाकी पश्चिमी जिलों में भी जल्द ही मॉनसून पहुंच जाएगा.

यूपी, एमपी, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड में 19 जून को वज्रपात गिरने की मौसम विभाग ने दी चेतावनी
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, 19 जून को उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड में मध्यम से गंभीर गरज के साथ लगातार बादल से जमीन पर बिजली गिरने की संभावना है. मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि बाहर रहनेवाले लोगों और जानवरों को नुकसान हो सकता है.

पश्चिमी राजस्‍थान से बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पूर्वी भागों के बीच बनी ट्रफ रेखा
पश्चिमी राजस्‍थान से हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दक्षिणी बिहार, झारखंड और गंगीय पश्चिम बंगाल होते हुए बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पूर्वी भागों के बीच एक ट्रफ रेखा बन गयी है. यह ट्रफ उत्तर प्रदेश पर बने निम्‍न दबाव के बीच से होकर गुजर रही है.

उत्तरी केरल से दक्षिणी गुजरात के तटीय भागों तक बनी ट्रफ दक्षिणी महाराष्ट्र तक सिमटी
दक्षिणी बंग्‍लादेश और सटे भागों के ऊपर एक सर्कुलेशन बना हुआ है. इसकी ऊंचाई समुद्र तल से 3.1 किमी से लेकर 5.8 किमी के बीच है. पश्चिमी तटों पर मॉनसून सीजन में बननेवाली ऑफ शोर ट्रफ दक्षिणी गुजरात के तटीय भागों से लेकर उत्तरी केरल तक एक ट्रफ बनी हुई थी, जो अब कम होकर दक्षिणी महाराष्‍ट्र से केरल के तटीय भागों तक सीमित हो गयी है.

स्काईमेट वेदर के महेश पलावत ने कहा
स्काईमेट वेदर के महेश पलावत ने कहा कि पिछले तीन-चार दिन से पश्चिमी हवाएं मॉनसून को उत्तर पश्चिम भारत में आगे बढ़ने से रोक रहीं हैं. ये हवाएं अगले सप्ताह भी रहेंगी इसलिए दिल्ली में अपने तय समय पर ही 27 जून के आसपास मॉनसून की बारिश होने का अनुमान है.

स्काईमेट वेदर के अनुसार
स्काईमेट वेदर के अनुसार अगले 3-4 दिनों में सौराष्ट्र और दक्षिण और मध्य गुजरात के तटीय भागों में बारिश की संभावना है.

मानसून की उत्तरी सीमा आगे बढ़ी, अगले 24 घंटे में गुजरात, राजस्थान, यूपी और एमपी के शेष हिस्सों में दस्तक देगा दक्षिण-पश्चिम मानसून
मानसून की उत्तरी सीमा आज शुक्रवार को जूनागढ़, दीसा, गुना, कानपुर, मेरठ, अंबाला और अमृतसर तक पहुंच गयी है. दक्षिण-पश्चिम मॉनूसन के अगले 24 घंटों में अरब सागर, गुजरात के बाकी हिस्‍सों, दक्षिणी राजस्‍थान के कुछ और भागों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मध्‍य प्रदेश के शेष हिस्‍सों में भी दस्‍तक दे सकता है.

गुजरात के पूर्वी क्षेत्रों, सौराष्ट्र, दक्षिण-पूर्वी राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कुछ भागों में आगे बढ़ा मानसून
दक्षिण-पश्चिम मॉनसून 18 जून को उत्तरी अरब सागर के कुछ और भागों, गुजरात के पूर्वी क्षेत्रों में अधिकांश स्‍थानों पर, सौराष्‍ट्र और दक्षिण-पूर्वी राजस्‍थान के कुछ हिस्‍सों के साथ-साथ मध्‍य प्रदेश तथा उत्तर प्रदेश के कुछ और भागों में आगे बढ़ा है.

पश्चिमी राजस्‍थान से बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पूर्वी भागों के बीच बनी ट्रफ रेखा
पश्चिमी राजस्‍थान से हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दक्षिणी बिहार, झारखंड और गंगीय पश्चिम बंगाल होते हुए बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पूर्वी भागों के बीच एक ट्रफ रेखा बन गयी है. यह ट्रफ उत्तर प्रदेश पर बने निम्‍न दबाव के बीच से होकर गुजर रही है.

दक्षिण-पश्चिमी बिहार, दक्षिण-पूर्वी यूपी के ऊपर बना निम्न दबाव का क्षेत्र
गंगीय पश्चिम बंगाल और सटे भागों के ऊपर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के प्रभाव से दक्षिण-पश्चिमी बिहार और इससे सटे दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर एक निम्‍न दबाव का क्षेत्र विकसित हो सकता है. पूर्वी उत्तर प्रदेश और सटे भागों के ऊपर हवाओं में पहले से बना चक्रवाती क्षेत्र इसी निम्‍न दबाव में मिल गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: