Akanksha-Tiwariआपदाफंगसमध्प्रदेश
Trending

इंदौर में मिला ग्रीन फंगस का पहला मरीज, ब्लैक और व्हाइट फंगस से है ज्‍यादा खतरनाक

newsmrl.com The first patient of green fungus found in Indore is more dangerous than black and white fungus update by Akanksha Tiwari

इंदौर अभी ब्‍लैक फंगस और कोरोना की दूसरी लहर से ही देश उबर नहीं पाया है, वहीं अब ग्रीन फंगस की नई बीमारी सामने आ गई है.

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में ग्रीन फंगस का देश का पहला मरीज मिला है. इस मरीज का मुंबई में इलाज चल रहा है. विशेषज्ञों ने ग्रीन फंगस को ब्‍लैक-व्‍हाइट फंगस की तुलना में कहीं ज्‍यादा खतरनाक बताया है.

एयरलिफ्ट करके भेजा मुंबई
डॉक्‍टरों ने बताया कि विशाल श्रीधर के दाएं फेफड़े में मवाद भर गया था, जिसे निकालने की काफी कोशिशें की गईं, लेकिन सफलता नहीं मिली. कई लक्षणों के अलावा उनका बुखार भी 103 डिग्री से कम नहीं हो रहा था. उसके फेफड़ों में 90 फीसदी संक्रमण हो चुका था. मरीज को चार्टर्ड प्लेन से मुंबई भेजा गया है और अब हिंदुजा अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है. डॉक्‍टरों का मानना है कि यह ग्रीन फंगस का देश का पहला मामला है.

इंदौर के माणिक बाग रोड इलाके में रहने वाले 34 वर्षीय विशाल श्रीधर को कुछ दिन पहले कोरोना हुआ और उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ा. कुछ दिन बाद वे ठीक होकर घर आ गए लेकिन फिर से परेशानी होने पर उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ा. श्री अरबिंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (SAIMS) के छाती रोग विभाग के प्रमुख डॉ.रवि दोसी ने बताया कि पहले हमें संदेह था कि मरीज को ब्लैक फंगस (म्यूकोर माइकोसिस) संक्रमण हुआ है. परीक्षण करने पर पता चला कि उसके साइनस, फेफड़े और ब्‍लड में ग्रीन फंगस इंफेक्‍शन हो गया है.

मध्‍यप्रदेश के इंदौर शहर में ग्रीन फंगस का पहला मामला सामने आया है. मरीज के 90 फीसदी फेंफड़े संक्रमित हो चुके हैं और उसे एयरलिफ्ट करके इलाज के लिए मुंबई भेजा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: