Akanksha-Tiwariकांग्रेसछत्तीसगढ़मुख्यमंत्रीराजनीतिरायपुर ग्रामीणरायपुर शहर
Trending

CM बघेल के पूरे हो रहे ढाई साल, सिंहदेव की दावेदारी की चर्चा: कृषि मंत्री चौबे बोले- CM पद पर ढाई साल का कोई फॉर्मूला नहीं

newsmrl.com Baghel is completing two and a half years, Singhdev's claim is discussed: Agriculture Minister Choubey said - there is no formula for two and a half years for the post of CM update by Akanksha Tiwari

Order No. 0356#RPR

छग में कांग्रेसियों को 17 जून का इंतजार!:बघेल के पूरे हो रहे ढाई साल, सिंहदेव की दावेदारी की चर्चा: कृषि मंत्री चौबे बोले- CM पद पर ढाई साल का कोई फॉर्मूला नहीं


छत्तीसगढ़ की सियासी गलियों में इस जोड़ी को जय और बीरू नाम दिया गया है।
भाजपा बोली- छत्तीसगढ़ का महाराजा भी किसी से कम नहीं, 17 के बाद प्रदेश में कांग्रेस की स्थिति पंजाब जैसी होगी

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी की सरकार के सत्ता संभालते ही ये चर्चा रही है कि भूपेश बघेल को ढाई साल के लिए ही CM बनाया गया है। इसके बाद कमान टीएस सिंहदेव को सौंपी जाएगी। हालांकि कभी इस खबर पर कोई पुख्ता बात नहीं कही गई। आलाकमान और प्रदेश के प्रभारी महासचिव पीएल पुनिया ने भी हमेशा इस अनुमान को नकारा, लेकिन कांग्रेस के कुछ नेता दबी जुबान में ढाई-ढाई साल के फार्मूले को स्वीकारते दिखे हैं। 17 जून को भूपेश बघेल के कार्यकाल को ढाई साल पूरे हो जाएंगे, अब ये चर्चा फिर से जोरों पर है कि क्या 17 जून को प्रदेश में कोई बड़ा उलटफेर होगा।

एक खेमा अभी भी आश्वस्त कि कुछ तो होगा

इतने स्पष्ट बयानों के बाद भी कांग्रेस में एक खेमा अभी भी इस बात को लेकर उत्साहित हैं कि ढाई साल पूरे होने पर सरकार में कुछ तो फेरबदल हो सकता है। इसमें सत्ता में भागीदारी नहीं मिलने से निराश कांग्रेसी हैं तो कुछ असंतुष्ट। इनका मानना है कि भले ही आलाकमान ने ढाई साल के CM के फार्मूले पर कभी बात नहीं की है, लेकिन दिल्ली में हमेशा इस बारे में चर्चा होती रही है। ढाई साल गुजरने के बाद अब कांग्रेस का केंद्रीय नेतृत्व चाहता है कि चुनाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी जाएं, लिहाजा वह सरकार को भी ज्यादा प्रभावी बनाना चाहता है। प्रदेश कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेता भी मानते हैं कि ढाई साल बाद भले ही CM ना बदले, लेकिन मंत्रिमंडल में बदलाव, निगम, मंडलों में नियुक्तियां, नए लोगों को जिम्मेदारी जैसे परिवर्तन देखने मिलेंगे। संगठन में भी कुछ लोग जोड़े जाएंगे।

अजय चंद्राकर बोले महाराजा किसी से कम नहीं
कृषि मंत्री के बयान कि बाद अब इस पूरे मामले में भाजपा सियासी चुटकी न ले ये तो हो नहीं सकता। लिहाजा इस मामले में पूर्व मंत्री और भाजपा के कुरुद से विधायक अजय चंद्राकर ने बयान दिया। अजय ने कहा कि माननीय रविन्द्र चौबे जी के बयान के बाद- छत्तीसगढ़ कांग्रेस की स्थिति भी 17 जून के बाद पंजाब जैसी ही होगी ! उन्होंने राजघराने से ताल्लुक रखने वाले टीएस सिंहदेव की ओर इशारा कर कहा – छत्तीसगढ़ का महाराजा भी किसी से कम नहीं।

छत्तीसगढ़ पंजाब नहीं
दिन भर चली ढाई साल की चर्चा के बीच शुक्रवार शाम के वक्त रविंद्र चौबे और मंत्री टीएस सिंहदेव ने फिर से इस मुद्दे पर मीडिया से बात की। रविंद्र चौबे ने कहा – जनता ने 5 साल के लिए कांग्रेस को चुना है। प्रदेश की आम जनता कहती है कि छत्तीसगढ़ में विकास का चेहरा भूपेश बघेल ही हैं, हम उन्हीं के नेतृत्व में काम करेंगे। टीएस सिंहदेव ने पंजाब की भाजपा द्वारा पंजाब से तुलना किए जाने पर कहा कि छत्तीसगढ़ पंजाब नहीं है। 17 जून तो आ रही है, ऐसा कुछ नहीं है हमें राहुल जी सोनिया जी ने जो जिम्मा दिया या भविष्य में जो भी जिम्मेदारी देंगे निभाते रहेंगे।

रविंद्र चौबे ने कहा- 20 साल राज करेगी कांग्रेस
कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार में मुख्यमंत्री का कार्यकाल, ढाई-ढाई साल करने का ना तो कोई फार्मूला है, ना ऐसी कोई चर्चा है और ना ऐसा कुछ होने वाला है। चौबे ने आगे कहा कि कांग्रेस की सरकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में अपना कार्यकाल पूरा करेगी। वे सरकार का मुख्य चेहरा हैं और उनके नेतृत्व में सरकार 20 साल से ज्यादा राज करेगी।

टीएस सिंहदेव बोले…तो फिर सही होगा
टीएस सिंहदेव कभी ढाई साल के सवाल पर खुद इनकार नहीं करते हैं, ना ही साफ तौर पर कुछ स्वीकार करते हैं। इस बार उन्होंने कहा कि अगर चौबे जी कह रहे हैं तो सही ही होगा। चौबे अनुभवी राजनेता हैं, जैसा कह रहे हैं, सही ही होगा। हमें भी कहीं से कोई संकेत नही हैं। मैं उनकी बात को सही मानता हूं। 30 मई को सरगुजा में मीडिया से सिंहदेव ने इस मुद्दे पर कहा था जैसा राहुल गांधी और सोनिया जी तय करेंगे वैसा ही होगा।

ढाई साल की चर्चा आखिर क्यों
पिछले विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद जब कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पर्यवेक्षक बनकर राज्‍य का दौरा किया तो विधायकों में सबसे ज्‍यादा समर्थन टीएस सिंह देव को मिला। बताया जाता है कि 67 विधायकों में से 44 ने टीएस सिंहदेव का समर्थन किया। इसके बाद तब राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री पद के चार संभावित उम्मीदवारों- टीएस सिंह देव, ताम्रध्वज साहू, भूपेश बघेल और चरण दास महंत से अपने आवास पर मुलाकात की और उनसे बात की। आलाकमान ने भूपेश बघेल का नाम तय किया। नाराज खेमे को भी खुश करने के लिए तभी से यह चर्चा जोरों पर थी कि ढाई साल बाद सिंहदेव को मौका दिया जाएगा, मगर अब तक ये सिर्फ चर्चा ही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: