18+ सेलिब्रिटी स्कैंडल्सKiran Rawatऑनलाइन गेमिंगकमाईकोलकाताक्राइमक्रिकेटखेलबाज़ारबिज़नेसमुंबई
Trending

भारतीय क्रिकेट में उठा बवंडर, कई खिलाड़ी हुए गिरफ्तार, BCCI बॉस की कुर्सी पर चला ‘खंजर’, धोनी की टीम डोल गई।

newsmrl.com Many players arrested, tornado in Indian cricket update by Nujhat ashrafi

लीग का छठा सीजन अपने अंत के करीब था. तभी फिक्सिंग बम फूट गया था. राजस्थान रॉयल्स के तीन खिलाड़ी- एस. श्रीसंत, अंकित चव्हाण और अजीत चंडीला इसमें फंसे थे और दिल्ली पुलिस ने इन तीनों को सट्टेबाजों के संपर्क में आने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

इंडियन प्रीमियर लीग जब से शुरू हुई है तब से इस लीग ने भारत को क्रिकेट में काफी मजबूत किया है. आज भारत के पास युवा खिलाड़ियों का फौज है और एक स्थान के लिए टीम के बाहर खिलाड़ियों की कतारें लगी हुई हैं. यह सब संभव हुआ उसमें आईपीएल का बड़ा योगदान रहा. लेकिन इसी आईपीएल से भारतीय क्रिकेट का एक काला अध्याय जुड़ा हुआ है. पैसों की बारिश करने वाली ये लीग फिक्सिंग से अछूती नहीं रह पाई थी. आज ही के दिन यानि 16 मई 2013 को यह लीग फिक्सिंग के कारण विवादों में घिर गई थी।

श्रीनिवासन पर भी अपना पद छोड़ने का दबाव था लेकिन वह अपनी जिद पर अड़े थे. बोर्ड के सचिव, कोषाध्यक्ष और आईपीएल चेयरमैन ने इस्तीफे दे दिए थे. इसके बाद श्रीनिवासन ने अस्थायी तौर पर अलग होने का फैसला किया था।

बोर्ड ने इस मामले में जांच समित का गठन किया था लेकिन इसकी जांच शुरू हो पाती उससे पहले ही दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया था कि राजस्थान रॉयल्स के मालिक राज कुंद्रा ने आईपीएल मैचों में सट्टेबाजी की बात को कबूल कर लिया है।

वहीं बाकी के दो खिलाड़ी अंकित चव्हाण और अजित चंदेला का करियर इस मामले के बाद खत्म हो गया. दिल्ली कोर्ट ने इन दोनों को क्लीन चिट तो दे दी थी लेकिन बीसीसीआई ने इनके ऊपर लगे बैन को नहीं हटाया था।

वहीं जो तीन खिलाड़ी पकड़े गए थे उनका करियर बर्बाद हो गया था. बीसीसीआई ने उन्हें बैन कर दिया था. श्रीसंत ने हालांकि अपने ऊपर लगे बैन के खिलाफ लंबी लड़ाई लगी और वह क्रिकेट में वापसी करने में सफल रहे. वह केरल के लिए विजय हजारे ट्रॉफी-2021 में भी खेले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: