newsmrlआकांक्षा तिवारी CG/MPकोविड-19प्रधानमंत्रीमहाराष्ट्रराजनीति
Trending

मोदी ने दिया वैक्सीनेशन के लिए मूलमंत्र,वैक्सीनेशन के बाद भी संक्रमण होना कम घातक है।

newsmrl.com covid19 update by akanskha

कल 8 अप्रैल को देश में कोरोना वायरस के 1 लाख 26 हजार मामले सामने आए हैं और स्थिति काफी चिंताजनक हो गई

इसी को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलग अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ इस पर मंथन दिया और कोरोना वायरस से लड़ने के लिए भी देश को नया मूल मंत्र दिया।ये मूल मंत्र है-T 3 का, यानी Test, Track और Treat.

अभी भारत में 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है।अगर आप भी श्रेणी में आते हैं, तो आपको वैक्सीन के लिए खुद को रजिस्टर करना है और जल्द से जल्द वैक्सीन लगवा लेनी है.

हालांकि हमारे देश में वैक्सीन पर काफी राजनीति भी हो रही है।महाराष्ट्र सरकार ने भारत सरकार पर वैक्सीन के वितरण में भेदभाव का आरोप लगाया और कहा कि सरकार महाराष्ट्र को जरूरत के हिसाब से वैक्सीन नहीं दे रही है और बीजेपी के शासन वाले राज्यों को इसका ज्यादा फायदा मिल रहा है, लेकिन आज हम संक्षेप में आपको ये बताना चाहते हैं कि ये राजनीति जनहित में बिल्कुल भी नहीं है। इसे इन आंकड़ों से समझ सकते हैं।

वैक्सीनेशन के मामले में महाराष्ट्र राज्य अब भी सबसे ऊपर है।वहां लगभग 90 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है और एक दिन पहले भी सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाने के मामले में महाराष्ट्र सबसे ऊपर था।

यहां एक समझने वाली बात ये भी है कि जो दो राज्य महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश में वैक्सीन की कमी होने की बात कह रहे हैं, वहीं सबसे ज्यादा वैक्सीन की डोज अब तक बर्बाद हुई है।

पिछले कुछ दिनों में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिनमें वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। इनमें सबसे बड़ा मामला लखनऊ से आया है, जहां वैक्सीन लगवाने वाले 40 डॉक्टरों को कोरोना हो गया।

इसके अलावा बिहार में भी वैक्सीन लगवाने के बाद 26 डॉक्टर कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं।इनमें 9 डॉक्टर अकेले पटना मेडिकल कॉलेज से हैं।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्लाह को भी वैक्सीन की पहली डोज लगवाने के बाद कोरोना हुआ और इसमें और भी कई नाम हैं।

इन मामलों के सामने आने के बाद लोग यही पूछ रहे हैं कि अगर वैक्सीन लगवाने के बाद भी कोरोना हो सकता है तो फिर इस वैक्सीन का फायदा क्या है? तो इस सवाल का जवाब ये है कि वैक्सीन लगवाने के बाद भी आपको कोरोना हो सकता है, लेकिन ये कोरोना आपके लिए खतरनाक नहीं होगा।अगर आपने वैक्सीन की दोनों डोज लगवाई होंगी तो इससे कोरोना आपको ज्यादा प्रभावित नहीं करेगा
आपको मामूली लक्षण होंगे और आप ठीक हो जाएंगे, यानी आपको अस्पताल जाने की जरूरी नहीं होगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: