newsmrlकोविड-19क्राइमछत्तीसगढ़नुजहत अशरफी - रायपुर शहरी/ग्रामीण
Trending

Big Breaking- इस निजी अस्पताल ने नाबालिगों को लगा दिया कोरोना का टीका

newsmrl.com exclusive report by Nujhat

छत्तीसगढ़ के निजी अस्पतालों में नाबालिगों को भी लगा दिया कोरोना का टीका,

वैक्सीनेशन में लापरवाही CMHO ने अस्पतालों को दी चेतावनी

छत्तीसगढ़ में चल रहे कोरोना वैक्सीनेशन में लापरवाही का मामला सामने आया है। यहां कुछ निजी अस्पतालों में नाबालिगों को भी कोरोना का टीका लगा दिया है। शिकायतें सामने आने के बाद अब स्वास्थ्य विभाग मामले की जांच करा रहा है। इधर, रायपुर की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (CMHO) डॉ. मीरा बघेल ने निजी अस्पतालों को पत्र लिखकर चेतावनी दी है।

CMHO डॉ. बघेल ने लिखा है, जिन निजी अस्पतालों को कोरोना टीकाकरण केंद्र बनाने की अनुमति दी गई है, अगर उन्होंने टीकाकरण के दिशा निर्देशों के विपरीत काम किया तो अनुमति रद्द कर दी जाएगी। उनके खिलाफ नर्सिंग होम एक्ट के प्रावधानों के तहत कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

CMHO डॉ. मीरा बघेल ने लिखा है, वैक्सीनेशन का पर्यवेक्षण कर रहे अधिकारियों से पता चला है कि निजी अस्पतालों में ऐसे लोगों को भी टीका लगाया जा रहा है जो इसके पात्र नहीं है। 18 वर्ष से कम उम्र के लोगों को टीका लगाने की जानकारी भी पोर्टल से मिली है। यह काम केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों के विपरीत है।

टीकाकरण निर्देशों के मुताबिक, अभी प्रदेश भर के कोरोना टीकाकरण केंद्रों पर स्वास्थ्य कर्मियों, मितानिनो, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, राजस्व, पुलिस और नगरीय निकायों के कर्मचारियों का टीकाकरण हो रहा है। इनमें से अधिकतर को कोरोना टीके की दूसरी डोज लग रही है। वहीं 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों और 45 वर्ष से अधिक उम्र के गंभीर बीमार लोगों को टीका लगाया जाना है। ऐसे में 18 वर्ष से कम उम्र के लोगों को टीका लग जाना गंभीर मामला बन गया है। बताया जा रहा है कि यह मामला कोविन 2.0 पोर्टल में दर्ज विवरण के आधार पर सामने आया है। स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु जी. पिल्लै ने विभाग काे मामले की जांच कर दोषियों की पहचान के लिये कहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: