Akanksha-Tiwariआपकांग्रेसछत्तीसगढ़दिल्लीरायपुर ग्रामीण
Trending

छत्तीसगढ़ और दिल्ली के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और अरविंद केजरीवाल का किसान आंदोलन को खुला समर्थन

newsmrl.com kisaan update by rajinder singh

Order No. 0356#RPR

[10:45 pm, 29/01/2021] Reporter Akanksha Tiwari Raipur: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरोप लगाया कि दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के आंदोलन को समाप्त करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने गुरुवार रात को गाजीपुर बॉर्डर पर सुरक्षा बलों की भारी तैनाती के बारे में एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि साजिश के माध्यम से किसानों के विरोध को समाप्त करने का प्रयास किया जा रहा है। आंदोलन को बदनाम करने और समाप्त करने का प्रयास किया जा रहा है। किसानों की मांग वास्तविक है और वे पिछले दो महीनों से आंदोलन कर रहे हैं। उनकी मांग को स्वीकार किया जाना चाहिए।

भूपेश बघेल ने रायपुर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘किसानों के विरोध को समाप्त करने की साजिश है। उन्हें (किसानों को) बदनाम किया जा रहा है। उनकी मांगें मान्य हैं। किसान पिछले दो महीनों से राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। फिर केंद्र सरकार उनकी मांगों को क्यों नहीं मान रही? केंद्र को हमारे ‘छत्तीसगढ़ मॉडल’ को अपनाना चाहिए। हमारे राज्य में कोई भी किसान विरोध नहीं कर रहा है। वे हमारी किसान समर्थक योजनाओं से खुश हैं।’ मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘मैं एक किसान का बेटा हूं। मैं किसानों के लिए लड़ूंगा। जो लोग किसानों की भावना को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें पता होना चाहिए कि जय किसान छत्तीसगढ़ की आवाज है।’

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आंदोलनरत किसानों की मांगों को वाजिब तथा उन्हें बदनाम करने की कोशिश को पूरी तरह गलत करार देते हुए शुक्रवार को कहा कि उनकी आम आदमी पार्टी (AAP) किसानों के जारी प्रदर्शन का पूरा समर्थन करती है। केजरीवाल किसान नेता राकेश टिकैत के असत्यापित एकाउंट से किए गए ट्वीट का जवाब दे रहे थे। टिकैत ने ट्वीट में किसानों के वास्ते इंतजाम करने को लेकर मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया था। केजरीवाल ने लिखा, ‘‘राकेश जी, हम पूरी तरह से किसानों के साथ हैं। आपकी मांगें वाजिब हैं। किसानों के आंदोलन को बदनाम करना, किसानों को देशद्रोही कहना और इतने दिनों से शांति से आंदोलन कर रहे किसान नेताओं पर झूठे केस करना सरासर गलत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Dark Mode Available in newsmrl.com में डार्क मोड उपलब्ध है
%d bloggers like this: